इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में
इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में
इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में

पूरे देश के दूर-दराज इलाकों से हर साल हजारों छात्र अपना भविष्य बनाने के लिए और अच्छी शिक्षा हासिल करने के लिए बड़े-बड़े शहरों में जाकर वहां के कॉलेजों में एडमिशन लेते हैं. लेकिन अगर हम ये बात कहें कि ये कॉलेज छात्रों से ज़रूरत से ज़्यादा फ़ीस लेकर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, तो शायद आप इस बात को नहीं मानेंगे. पर हम आपको बता दें कि पूरे देश में करीब 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टिट्यूट ऐसे हैं, जो फ़र्जी हैं और इनमें से सबसे ज़्यादा देश की राजधानी दिल्ली में हैं.

इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में
इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऐसे फ़र्जी कॉलेजों से मिलने वाले सर्टिफ़िकेट कागज का टुकड़ा हैं, जिसकी कोई वैधता नहीं है. ऐसा इसलिए क्योंकि इन फ़र्जी संस्थानों के पास डिग्री देने का अधिकार ही नहीं है. गौरतलब है कि पूरे देश में कुल 23 फ़र्जी यूनिवर्सिटीज़ चल रहीं हैं, जिनमें से 7 दिल्ली में चल रही हैं. इस बात की पुष्टि यूजीसी ने अपनी सालाना रिपोर्ट में एक लिस्ट जारी करके की है.

इस रिपोर्ट के अनुसार, यूजीसी और ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने पिछले महीने इस तरह के संस्थानों की एक लिस्ट अपनी वेबसाइट पर जारी की थी और छात्रों को ये जानकारी भी दी थी कि अगले सेशन में किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले सतर्कता बरतें.

इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में
इंडिया में 23 यूनिवर्सिटीज़ और 279 टेक्निकल इंस्टीट्यूट हैं फ़र्जी, 66 हैं दिल्ली में

वहीं एक ऑफ़िसर ने बताया कि ‘तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र जैसे राज्यों को हमने ऐसे संस्थानों के खिलाफ़ एक्शन लेने के लिए संबंधित लिस्ट भेज दी है. इनके खिलाफ़ ज़रूरी कार्रवाई भी की जाएगी.’ इसके साथ ही ऑफ़िसर ने कहा कि फ़र्जी संस्थानों को लेकर पब्लिक नोटिस भी जारी किया जा चुका है, जो न्यूज़पेपर्स में भी पब्लिश किया गया है.

Advertisement

मानव संसाधन विकास (HRD) राज्यमंत्री, महेंद्र नाथ पांडेय ने हाल ही में राज्यसभा में बताया कि मंत्रालय ने राज्य सरकारों को पत्र लिखकर फ़र्जी संस्थानों और विश्‍वविद्यालयों की जानकारी हासिल कर उनके खिलाफ़ सख्‍त कार्रवाई करने को कहा गया है. छात्रों से धोखाधड़ी करने वाले संस्थानों के खिलाफ़ कार्रवाई होगी. इन संस्थानों की लिस्ट यूजीसी की वेबसाइट पर देखी जा सकती है.

नया सत्र शुरू होने वाला है, तो स्टूडेंट्स किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले एक बार UGC की वेबसाइट पर इस लिस्ट को ज़रूर चेक करें.